What is Accounting ?/ एकाउंटिंग क्या हैं ?

Accounting बिज़नेस का एक बहुत ही जरुरी हिस्सा हैं जो हमें ये बताता है की व्यापर मैं कितना profit और loss हो रहा हैं और जो भी product हम बेचते है उसकी products की details भी हमें देता हैं और हमारे ग्राहक का अकाउंट और supplier का अकाउंट का हिसाब भी रखता हैं। और साथ मैं हमें समय समय पर ये भी बताता हैं की हमारे गोदाम मैं कितना माल हैं और किस ग्राहक ने कितना माल खरीदने का order दिया हैं और किससे कितना बकाया राशि लेनी हैं। यह सारा हिसाब हमें एकाउंटिंग से मालूम हो जाता हैं।

Ecosys Technologies

10 most common Type of Accounting

एकाउंटिंग के प्रकार ?

  • Financial Accounting
  • Managerial Accounting
  • Cost Accounting
  • Auditing
  • Tax Accounting
  • Accounting Information System
  • Fiduciary accounting.
  • Forensic accounting.

Type of Business Account? /अकाउंट कितने type के होतें हैं ?

  • पूंजी खाता ( Capital Account )
  • नगद खाता ( Cash Account )
  • बैंक खाता (Bank Account)
  • ग्राहक खाता (Customer Account)
  • Supplier Account
  • संपत्ति (Assets)
  • व्यय खाता (Expense Account)
  • आय खाता Income Account

Golden rule of accounting क्या हैं ?

  • व्यक्तिगत लेखा (Personal Account)
  • वास्तविक लेखा (Real Account)
  • अवास्तविक लेखा (Nominal Account)

व्यक्तिगत लेखा (Personal Account)

जो लेखा व्यक्ति या संस्था से सम्बंधित होता हैं उसे व्यक्तिगत लेखा कहते है। जैसे राम का लेखा और श्याम वस्त्रालय इत्यादि। ये सभी लेखा व्यक्तिगत लेखा कहलाते हैं।

व्यक्तिगत लेखा के नियमRule of the personal Accounts.

लेनेवाला (Debit the Receiver)

देनेवाला (Credit the Giver)

लेनेवाला (Debit the Receiver)

राम ने श्याम को 1000 रुपये दिए। यहाँ पर राम द्वारा श्याम को 1000 रुपये दिए गए तो इस कारण से राम giver हुआ और श्याम receiver हुआ।

श्याम ने राम से 1000 रूपए प्राप्त किये तो लेने वाला श्याम हुआ।

यानि
राम credit
श्याम debit

देनेवाला (Credit the Giver)

यहाँ पर देने वाला राम हुआ क्योकि राम ने श्याम को 1000 रूपये दिए।

वास्तविक लेखा (Real Account)

जो वस्तुए व्यवसाय मैं आती है उन्हें debit किया जाता हैं और जो वस्तुए व्यवसाय से बेचीं जाती है उन्हें क्रेडिट किया जाया हैं।

Debit what’s come in

Credit what’s goes out

अवास्तविक लेखा (Nominal Account)

व्यवसाय से सम्बंधित जो भी आय और व्यय होता हैं वो सभी अवास्तविक खातों मैं रखा जाता हैं यानि nominal account मैं, जैसे की किराया का खाता, व्याज का खाता इत्यादि

सभी खर्च एवं हानि (Debit all expenses and losses)

सभी आमदनी एवं लाभ (Credit all incomes and gains)

Leave a Comment